खगड़िया के इस गांव में हर वर्ष होली में बहती है भक्ति की गंगा – Live Khagaria
Breaking News

खगड़िया के इस गांव में हर वर्ष होली में बहती है भक्ति की गंगा



लाइव खगड़िया (मुकेश कुमार मिश्र) : जिले के परबत्ता प्रखंड का नयागांव होली में भक्ति की सागर डूब सा जाता है और यह यहां की एक पुरानी परंपरा है. 1929 ई में नयागांव के महंथ श्री ज्योतिंद्र नारायण सिंह, विष्णुदेव प्रसाद सिंह एवं महंथ श्री अद्या प्रसाद सिंह के द्वारा होली में समाज को अध्यात्म से जोड़ने के लिए प्रारंभ किया गया ‘ग्राम हरिनाम यश संकीर्तन सम्मेलन’ हर वर्ष फाल्गुन शुक्ल पक्ष के चतुर्दशी पूर्णिमा के चैत्र प्रतिपदा में आयोजित किया जाता है. सम्मेलन को लेकर निर्णय लेने एवं संचालित करने के लिए कमिटी बनी हुई है. जिसके वर्तमान अध्यक्ष उपेंद्र नारायण सिंह, उपाध्यक्ष महेंद्र प्रसाद सिंह, मंत्री सहजानंद सिंह, उपमंत्री सुधीर प्रसाद सिंह, मंच संचालक श्री चंद्र देव प्रसाद सिंह, उप मंच संचालक राजनीति सिंह और कोषाध्यक्ष डॉ विजय सिंह व ब्रजचांद सिंह तथा मंच पुजारी बालमुकुंद चौधरी हैं.

इस वर्ष  91वां तीन दिवसीय ‘ग्राम हरिनाम यश संकीर्तन सम्मेलन नयागांव वीरपुर टोला के प्रमोद चौधरी के द्वारा हाई स्कूल में आयोजित किया गया. 8 मार्च  को श्री हनुमान जी का ध्वजारोहण के उपरांत तीन दिवसीय सम्मेलन प्रारंभ हुआ. जिसमें हर दिन आमंत्रित मुख्य प्रवचनकर्ता राष्ट्रीय संत बाल व्यास कन्हैया जी महाराज (रामकथा वाचक,पटना), मानस मयंक अक्षय जी महाराज (कन्हैयाचक),अंतरराष्ट्रीय रामबालक दास (अगुवानी डुमडिया), संजू भारती (कन्हैयाचक), राधा कृष्ण चौधरी (बलहा) आदि के द्वारा प्रवचन दिया गया. जबकि कार्यक्रम के प्रथम दिन रात्रि में फुलवारी लीला संकीर्तन महंथ श्री बच्चन सनगही के द्वारा तथा धनुष यज्ञ लीला संकीर्तन महंत डॉ गोपाल मिश्र के द्वारा प्रस्तुत किया गया.




कार्यक्रम के दूसरे दिन सोमवार की संध्या को नगर कीर्तन संरक्षण के द्वारा प्रभु श्रीराम की बारात झांकी निकाली गई. जो पंचखुट्टी शिरोमणी टोला, सतखुट्टी के रास्ते वीरपुर टोला होते हुए आयोजन स्थल तक पहुंचा. बारात झांकी में दर्जनों घोड़ा, ट्रैक्टर, मोटरसाइकिल आदि वाहन शामिल हुए. इस दौरान हर घर के सामने आरती उतारकर  प्रभु श्री राम की बारात का स्वागत किया गया तथा रात्रि में महंथ श्री सहजानंद सिंह के द्वारा जानकी विवाह लीला कीर्तन प्रस्तुत किया गया.




जबकि सम्मेलन के तीसरे एवं अंतिम दिन मंगलवार की रात्रि में श्री राम कलेवा संकीर्तन महंथ श्री उपेंद्र नारायण सिंह के द्वारा प्रस्तुत किया गया. साथ ही संगीत कलाकार ने एक से बढ़कर भक्ति संगीत प्रस्तुत कर लोगो को झूमने पर मजबूर कर दिया. आयोजन के दौरान लगातार तीन दिनो तक गांव में भक्ति की गंगा बहती रही. वहीं अगले वर्ष  92वां अधिवेशन नयागांव सतखुट्टी में आयोजित करने का निर्णय लिया गया.



Check Also

मजबूरी कुछ ऐसी थी कि भाग ना सका वो,घर में आग लगने से झुलसा युवक

लाइव खगडिया (मुकेश कुमार मिश्र) : जिले के मड़ैया थाना क्षेत्र के मड़ैया में मंगलवार …