Breaking News
Home / Recent / बिहार के डीजीपी का एक महत्वपूर्ण पैगाम, प्रदेश की जनता के नाम

बिहार के डीजीपी का एक महत्वपूर्ण पैगाम, प्रदेश की जनता के नाम




लाइव खगड़िया : लोकसभा चुनाव के मतदान की प्रक्रिया के बाद गुरुवार को होने वाले मतगणना को लेकर प्रदेश में विधि-व्यवस्था कायम रखने के उद्देश्य से बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डे ने सोशल साइट के माध्यम से प्रदेश की जनता के नाम एक महत्वपूर्ण संदेश पोस्ट किया है. आगे पढ़ ले उन्हीं के शब्दों में वो संदेश…

बिहार के सभी नौजवानों और आम जनता से विनम्र अपील

बिहार वीरों, बलिदानियों, शहीदों की धरती है और ये बुद्ध , महावीर जैसे संतों की भी धरती है. हमें बिहार के गौरव को हर हाल में बनाए रखना है. इस वर्ष आम जनता और विशेषकर नौजवानों के सहयोग से जिस तरह के सद्भावनापूर्ण माहौल में होली, रामनवमी, शब्बे बारात आदि त्योहार निकले और जिस तरह शांति से चुनाव का महापर्व सम्पन्न हुआ, उससे बिहार का मान-सम्मान और गौरव बढ़ा है .हम सबको गर्व होना चाहिए कि हम सब बिहारी हैं. मैं सभी बिहारवासियों ख़ास रूप से नौजवानों को इसके लिए बधाई देता हूँ और उनके प्रति अपनी कृतज्ञता व्यक्त करता हूँ.

एक निवेदन – कल सुबह से मतगणना होगी. चुनाव जनता का निर्णय है. कोई हारता है, कोई जीतता है. जीतनेवाले और हारनेवाले दोनो पक्षों में कुछ उपद्रवी तत्व हो सकते हैं. जीतनेवाले जीत के उत्साह में और हारने वाले पक्ष के लोग हार की हताशा में कुछ ऐसे काम करने लगते हैं, जिससे विधि व्यवस्था की समस्या खड़ी हो जाती है. फिर पुलिस को स्थिति को नियंत्रित करने के लिए लाठी चलानी पड़ती है, गोली चलानी पड़ती है. ऐसी स्थिति में लोग घायल होते हैं, मरते हैं, फिर केश मुक़दमे , गिरफ़्तारी, कुर्की ज़ब्ती, फिर अपनी परेशानी और सूबे की बदनामी. एक बार केश मुक़दमे में उलझ गए तो गुंडा रजिस्टर में नाम दर्ज होना तो अबकी बार तय. फिर जीवन भर की आफ़त ! चुनाव के दौरान भी पूरे सूबे में सिर्फ़ ७-८ जगहों पर कुछ असामाजिक तत्वों ने गुंड़ागर्दी करने की कोशिश की. वो कुछ कर तो नहीं पाए लेकिन अपना भविष्य अवश्य बर्बाद कर लिया. ठोक कर मुक़दमे हुए और आगे इसका जो नतीजा होगा वो समय बताएगा. क़ानून से बड़ा कोई नहीं और क़ानून हाथ में लेने की छूट किसी को नहीं दी जा सकती.



मैं अपील करता हूँ बिहार की अवाम से विशेषकर सारे नौजवानों से कि वो किसी के बहकावे में आकर कोई ऐसा काम ना करें,जिससे उनका भविष्य ख़राब हो. चंद लोग ही उपद्रवी होते हैं, जो ये सब करते हैं,कराते हैं. आप सतर्क रहें . कही जातीय, दलीय या साम्प्रदायिक तनाव नहीं फैलने दें. कुछ लोग गुंड़ागर्दी को ही पुरुषार्थ समझते हैं और अशांति, उपद्रव और हिंसा फैलाने में ही गर्व अनुभव करते हैं. उनसे कैसे निबटना है, ये पूरे पुलिस बल को समझा दिया गया है. पुलिस और प्रशासन के लोग ऐसे उपद्रवी तत्वों से अच्छी तरह निबट लेंगे. क़ानून तोड़ने वालों को मेरी एक बात केवल याद रहनी चाहिए- “किसी की सिफ़ारिश काम नहीं आएगी “. अपने नफ़ा-नुक़सान का ठीक से हिसाब लगा कर ही कोई निर्णय लें. फिर कोई मदद नहीं कर पाएगा.

मुझे बिहार की आवाम पर , विशेष रूप से बिहार के  बहादुर अपने नौजवान दोस्तों पर गर्व है. मुझे विश्वास है आप बिहार को बदनाम नहीं होने देंगे और उपद्रव तथा अशांति फैलानेवाले तत्वों पर एक सैनिक की तरह नज़र रखेंगे .

बिहार के सभी SP,DM,DIG,IG आदि पदाधिकारियों को ठीक से समझा दिया गया है कि उन्हें क्या करना है और उपद्रवी तत्वों से कैसे निबटना है. मैं पुनः आप सभी बिहारवासियों को आदर सहित प्रणाम करते हुए बिहार में मतगणना के दौरान और उसके बाद विधि व्यवस्था संधारण में सहयोग देने की अपील करता हूँ.


Check Also

गुरु पूर्णिमा महोत्सव का उद्घाटन करेंगे बिहार सरकार के मंत्री श्रवण कुमार

लाइव खगड़िया (मुकेश कुमार मिश्र) : जिले  के कोसी-बागमती संगम स्थल से सटे बेलदौर के …